free tracking
Breaking News
Home / देश दुनिया / इस कारण से लड़को को नही लड़कियों को मिलती है फ्लाइट में ज्यादा नौकरियां

इस कारण से लड़को को नही लड़कियों को मिलती है फ्लाइट में ज्यादा नौकरियां

यदि आपने भी हवाई जहाज़ की सवारी की है तो आपने देखा होगा कि हवाई जहाज़ में अक्सर फीमेल एम्प्लोयी ही होती है जो दिखने में बहुत खुबसूरत भी होती है और सफ़र के दौरान आपका पूरा ख्याल रखती है  ! इन्हें एयर होस्टेस कहा जाता है जो आपकी मदद के लिए फ्लाइट अटेंडेट्स हमेशा तैनात रहती हैं.  जिनका काम होता है यात्रा की दौरान आने वाली किसी भी मुश्किल को आसान करना. आपने यह भी देखा होगा कि ये फ्लाइट अटेंडेंट पुरुषों के मुकाबले महिलाएं ही ज्यादा होती हैं. अधिकतर एयरलाइंस महिलाओं को ही चुनती हैं. क्या आपको इसका कारण पता है?

पुरुषों की संख्या होती है कम
ऐसा नहीं है कि पुरुष एयर होस्ट बन ही नहीं सकते. मेल फ्लाइट अटेंडेंट भी होते हैं, लेकिन इनकी संख्‍या बेहद कम है. पुरुषों को इस पद पर रखने वाली कंपनियां कहती हैं कि वह केवल उस परिस्थिति में मेल अटेंडेट रखते हैं, जहां ज्‍यादा बल और मेहनत का काम होता है. वहीं, कुछ लोगों का यह मानना है कि महिलाओं को चुनने का वजह सिर्फ ग्लैमर है.

जानकारी के मुताबिक, हॉस्पिटेलिटी से जुड़े काम के लिए महिलाएं ही सही चॉइस मानी जाती हैं. इसके कई कारण हैं. यहां जानें क्या
1. माना जाता है कि लोग पुरुषों के मुकाबले महिलाओं की बातों पर गौर करते हैं और उन्हें ध्यान से सुनते हैं. इसलिए जब जरूरी दिशा निर्देश बताने की बात आत है तो महिलाएं ही सामने आती हैं.
2. यह बात भी सामने आई है कि पुरुषों के मुकाबले महिलाओं की मैनेजमेंट स्किल्स ज्यादा अच्छी होती हैं. ऐसे में वह यात्रियों की सेवा में ज्यादा ध्यान देती हैं और कम समय में समाधान भी निकाल लेती हैं.
3. यह भी कहा जाता है कि फीमेल्स ज्यादा अच्छे से और ध्यान से लोगों की बात सुनती हैं.

4. पुरुषों के मुकाबले फीमेल फ्लाइट अटेंडेंट ज्यादा विनम्र और वेलकमिंग होती हैं. ऐसे में पैसेंजर्स में उस एयरलाइन की इमेज अच्छी बनती है.
5. यह भी माना जाता है कि महिलाएं ज्यादा उदार स्वभाव की होती हैं और आकर्षक भी. केबिन क्रू के लिए यह एक बहुत जरूरी क्वॉलिटी है.
6. वहीं, कहीं न कहीं ये बात भी आती है कि महिलाओं का वजन पुरुषों से कम होता है और किसी भी फ्लाइट के लिए ये एक महत्वपूर्ण बात है. क्योंकि ज्यादा वजन का मतलब है ज्यादा फ्यूल

यही कुछ बातें हैं, जिसकी वजह से आप महिला केबिन क्रू ज्यादा और पुरुष केबिन क्रू कम देखते हैं. हालांकि, जेंडर समानता के को लेकर यह भी कहा जाता है कि इस नौकरी में पुरुषों को भी उतना ही मौका मिलना चाहिए.

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.