free tracking
Breaking News
Home / ताजा खबरे / अभी बाज़ार में उपलब्ध नहीं हो पाएगी

अभी बाज़ार में उपलब्ध नहीं हो पाएगी

सारी दुनिया में इस म-हामा’री के सं-क्रम’ण और उसके प्रभाव को देखते हुए डब्ल्यूएचओ प्रमुख डॉ. टेड्रोस अधनोम घ्रेबेसिस ने  कहा है कि इस म-हामा’री के लिए सब तैयार रहे। ये भी कहा कि दुनियाभर के देशों को अगली म’हामा’री से पहले पब्लिक हेल्थ में काफी पैसा निवेश करना चाहिए नहीं तो को’रो-ना जैसे हालत की आशंका है।  डॉ. टेड्रोस ने कहा कि नोवेल कोरोना वायरस की वजह से पूरी दुनिया में 2.71 करोड़ लोग संक्रमित और 8.88 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो गई।

महामारियां जीवन की सच्चाई

डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने ये भी कहा कि कोविड-19 ने दुनिया की तस्वीर बदल दी है।  सिर्फ दिसंबर 2019 से लेकर अब तक इसकी भयावहता बढ़ती जा रही है। जेनेवा में एक प्रेस ब्रीफिंग के दौरान कहा कि यह कोई आखिरी महामारी नहीं है। इतिहास कई महामारियों का गवाह  है। ये महामारियां जीवन की सच्चाई हैं। ये खत्म नहीं होतीं।

वैक्सीन और दवाओं पर शोध

दुनिया के  कई देशों को संभावित बीमारियों की वैक्सीन और दवाओं पर मिलकर शोध करना चाहिए। वैक्सीन और दवाओं के तत्काल निर्माण और बाजार में लाने की व्यवस्था करनी चाहिए ताकि जब भी कोई महामारी फैले तो उसे तुरंत नियंत्रित किया जा सके। इस साल के अंत तक कोरोना वायरस की कोई वैक्सीन नहीं मिलेगी।

वैक्सीन इस साल के अंत तक नही

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन से यूरोप, अमेरिका, मेक्सिको और रूस को सबसे ज्यादा उम्मीदें थीं। डब्ल्यूएचओ प्रमुख के इमरजेंसी प्रोग्राम के प्रमुख माइक रयान ने कहा कि दुनियाभर के रिसर्चर्स बहुत तेजी से काम कर रहे हैं। ताकि वैक्सीन बनाई जा सके। लेकिन बाजार में वैक्सीन इस साल के अंत तक नहीं आ पाएगी।

 नहीं मिलेगा वैक्सीन को समर्थन

डब्ल्यूएचओ ने ये साफ कह दिया है कि वह कभी ऐसी वैक्सीन का समर्थन नहीं करेगा, जो जल्दबाजी में विकसित की गई हो और प्रभावशाली के साथ सुरक्षित साबित न हुई हो। अंतिम चरण में कंपनियां हजारों वॉलंटियर पर अपने वैक्सीन का परीक्षण कर रही हैं, ताकि ये सुनिश्चित किया जा सके कि वे सुरक्षित हैं। माइक रयान ने कहा कि अगले साल यानी 2021 के शुरूआती महीनों में जो भी है वो वैक्सीन आएगी । इस समय हर दिन जितने कोरोना के मामले आ रहे हैं, वो रिकॉर्ड तोड़ है। माइक इस समय की उस डब्ल्यूएचओ टीम के प्रमुख हैं जो यह देखेगी कि दुनिया के सभी देशों को सही समय पर सही मात्रा में वैक्सीन मिले। इस समय दुनियाभर के वैज्ञानिक तेजी से वैक्सीन बनाने में जुटे है।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.