free tracking
Breaking News
Home / ताजा खबरे / मैंने उनको अपने भाई से भी ज्यादा समझा लेकिन…

मैंने उनको अपने भाई से भी ज्यादा समझा लेकिन…

हाल ही में हुए बें’गलु’रु ह-म’ले के कारण सोशल मीडिया पर बबाल मचा हुआ है ! बता दे कि  कांग्रेस विधायक के घर पर ह-मला  करने के बाद उनके घर पर तोड़ फोड़ कर दी गयी ! ये लोग यही शांत नहीं हुए बल्कि शहर के 5 किलो मीटर के भीतर 500 गाड़ियाजला दी गयी ! अब कांग्रेस के विधायक ने मीडिया से बात चीत के दौरान बड़े ही दु-खी मन से ये बयान दिया है जिसे कहते हुए नेता रो’ ही पड़े !

कांग्रेस विधायक आर अखण्ड श्रीनिवास मूर्ति ने पत्रकारों से बात करते हुए दुखी मन से कहा, “मैं मुसलमानों को अपना भाई मानता था और हम कम से कम 25 साल से साथ रह रहे थे, फिर भी आज मैंने अपना 50 साल पुराना घर खो दिया। बेंगलुरु में हाल के दं-गों के दौरान, उ-ग्र वादी इस्ला-मवादियों ने प-त्थर, आ-गजनी और तो-ड़फोड़ करके हिं-सक प्र-दर्शन किए। मुसलमानों की भारी भी-ड़ ने सड़कों पर तो-ड़फोड़ की और कांग्रेस विधायक आर मूर्ति के घर को ज-ला दिया। इसके साथ दं-गाइयों ने डीजे होली और केजी हल्ली पुलिस स्टेशनों पर ह-मला किया। पुलिस वाहनों और कई अन्य वाहनों में आ-ग लगा दी गई और सार्वजनिक संपत्ति को व्यापक नुकसान पहुंचाया गया।

दिल दहला देने वाली घ-टना को याद करते हुए, कांग्रेस विधायक ने कहा कि उनके घर पर 3000-4000 मुस्लिम दं-गाइयों की भी-ड़ पहुंची, प-त्थर फेंके, पे-ट्रोल डाला, टायर ज-लाए और घर में आ-ग लगा दी। उन्होंने कहा कि आतं-कवादी दं-गाइयों ने त-लवार, कु-ल्हाड़ी, ला-ठी से ह-मला किया और उनके आवास पर पे-ट्रोल ब-म भी फेंके। कैमरे के सामने अपना दुख व्यक्त करते हुए विधायक ने कहा कि दं-गाइयों ने जो ज-लाया वह मेरा पैतृक घर था। जब वह अपने भाई-बहनों के साथ बड़ा हुआ और अपने माता-पिता के साथ रह रहा था। उन्होंने बताया कि परिवार पिछले 50 वर्षों से उस घर में रह रहा था।

विधायक श्रीनिवास मूर्ति दलित समुदाय से हैं। अपने निर्वाचन क्षेत्र में एक बड़ा मुस्लिम वोट शेयर होने के बावजूद, वे पिछले 4 चुनावों को अच्छे अंतर से जीत रहे हैं। उनके स्थानीय मुस्लिम नेताओं के साथ अच्छे संबंध होने की भी खबर है। विधायक ने दं-गों के लिए उकसाने के लिए बाहरी लोगों को भी दो-षी ठहराया और स्थानीय निवासियों से दो-षियों को पकड़ने में मदद करने का आग्रह किया।

CBI या CID जाँच जाँच की माँग करती है

कांग्रेस विधायक ने कहा, “सवाल यह उठता है कि अगर कानून बनाने वाले को इसका खामियाजा भुगतना पड़े तो मैं आम नागरिकों की सुरक्षा कैसे कर सकता हूं?” उन्होंने कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से अपने परिवार को पर्याप्त सुरक्षा प्रदान करने की अपील की है। उन्होंने मामले की जांच सीबीआई या सीआईडी ​​को सौंपने की भी अपील की है। उन्होंने कहा, “एक विधायक होने और कर्नाटक में सबसे बड़े अंतर से जीतने के बावजूद, आज मेरी यही हालत है। अन्य विधायकों की स्थिति क्या हो सकती है? ”

कांग्रेस के लिंक?

गौरतलब है कि इस भीषण दं-गे के तुरंत बाद सामने आए विवरणों से संकेत मिलता है कि नगवाड़ा के नगर सेवक इरशाद बेगम के पति कलीम पाशा ने अन्य एसडीपीआई नेताओं के साथ मिलकर दं-गे को अंजाम दिया। कलीम पाशा नागवारा वार्ड के पूर्व कॉर्पोरेटर हैं। कथित तौर पर राज्य में कांग्रेस नेता के साथ उनके करीबी संबंध हैं। उन्हें कर्नाटक के पूर्व गृह मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता केजे जॉर्ज के सहयोगी के रूप में भी जाना जाता है। उनकी फेसबुक प्रोफाइल इस तथ्य पर भी प्रकाश डालती है कि वह एक सक्रिय कांग्रेस कार्यकर्ता थे। बेंगलुरु पुलिस ने पाशा और स्थानीय एसडीपीआई नेता मुजम्मिल पाशा के खिलाफ बेंगलुरु हिं-सा मामले में भी मामला दर्ज किया है।

About payal

Leave a Reply

Your email address will not be published.