free tracking
Breaking News
Home / ताजा खबरे / राजू श्रीवास्तव के निधन का कारण है कार्डियक अरेस्ट, जानिए क्या होते है इसके लक्षण

राजू श्रीवास्तव के निधन का कारण है कार्डियक अरेस्ट, जानिए क्या होते है इसके लक्षण

मित्रों  दुनिया को हंसाने और गुदगुदाने वाले मशहूर कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव अब नहीं रहे। वर्कआउट करते वक्त कॉमेडियन अचानक गिर गए और बेहोश हो गए थे .जिम में हार्ट अटैक के कारण उनकी तबीयत बिगड़ी थी फिर उन्हें दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया था .तब वो अस्पताल में ज़िंदगी की जंग लड़ रहे थे 10 अगस्त को एम्स में भर्ती करवाने के बाद से उनकी तबीयत में कोई सुधार नजर नहीं आया था . राजू 42 दिनों तक अस्पताल में मौ त से जंग लड़ते रहे, कुछ समय पहले उनकी हालत में सुधार देखने को मिला था, मगर आज उन्होंने आखिरी सास ली राजू श्रीवास्तव के नि धन से हर कोई सदमे में हैं मनोरंजन जगत के अलावा राजनेता भी उनके जाने से दुखी हैं राजू श्रीवास्तव का निधन कार्डियक अरेस्ट से हुआ है अगर आपकों भी कुछ ऐसे लक्षण दिख रहे है तो हो जाएं सावधान उन लक्षणों के बारे में हम आपको बतायेगे उन लक्षणों के बारे में जानने के लिए लेख को विस्तार से पढ़े।

दरअसल ऐसे कई मामले आपने पहले भी देखे और सुने होंगे हाल ही में सिंगर केके का निधन कार्डिएक अरेस्ट की वजह से हुआ था वहीं पिछले साल एक्टर पुनीत राजकुमार की मौत भी कार्डिएक अरेस्ट के कारण ही हुई और उनकी मौत जिम में हैवी वर्कआउट करने के बाद हालत बिगड़ने के बाद इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उन्होंने आखिरी सांस ली इससे पहले भी कई ऐसे केस सामने आए हैं जिनसे हम सब वाकिफ हैं फिर भी आप इस बात को इग्नोर कर रहे हैं तो सचेत हो जाने की जरूरत है कई लोगों के मन में भ्रम है कि हार्ट अटैक और कार्डियक अटैक एक ही है, लेकिन आपको बता दें कि ऐसा नहीं है। कार्डियक का अटैक दिल के भीतरी हिस्सों के खराब हो जाने पर होता है, यानी दिल का काम है खून को शुद्ध करना और पूरे शरीर में संचार कराना। अगर इसमें किसी भी तरह की दिक्कत आती है, तो इसका सीधा असर धड़कन पर पड़ता है। जो लोग पहले से ही हार्ट अटैक के दर्द से निकल चुके हैं उन्हें कार्डियक अरेस्ट आने की संभावना ज्यादा होती है, वहीं, हार्ट अटैक तब होता है जब हृदय के कुछ हिस्सों में खून का संचार कम हो जाता है। हम आपको कुछ ऐसे ही लक्षणों के बारे में बता रहे हैं।

आपको बता दे कि अगर आप चाहते हैं कि आपका भी हाल राजू श्रीवास्तव जैसा ना हो जैसा कि वह जिम के दौरान ट्रेडमिल पर चलते चलते अचानक से गिर गए तो आपको इन लक्षणों को इग्नोर नहीं करना होगा 40 की उम्र के बाद आपको लगातर पीरियॉडिक चेकअप करवाते रहना चाहिए यह जिम करने वालों के लिए बहुत जरूरी है वर्कआउट करते समय मशीन पर अपना हार्ट रेट जरूर मॉनिटरिंग करते रहें इसके लिए आप स्मार्टवॉच भी पहन सकते हैं, जिसमें आप हार्ट रेट चेक कर सकते हैं अगर वर्कआउट करते वक्त आपने नोटिस किया है कि आपकी हार्ट रेट 120 के आगे 180 पहुंच गई है तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं या फिर हार्टर रेट स्लो भी हो जाए तो तुरंत अलर्ट हो जाएं।

कार्डियक अरेस्ट के लक्षण

  • हृदय का तेजी से धकधकाना
  • सीने में दर्द
  • चक्कर आना
  • सांस लेने में समस्या
  • जल्दी थकान महसूस होना
  • बेहोशी
  • पेट और सीने में एक साथ दर्द

About Lakshmi