free tracking
Breaking News
Home / ताजा खबरे / राम मंदिर निर्माण के लिए प्रि’यंका का बड़ा बयान

राम मंदिर निर्माण के लिए प्रि’यंका का बड़ा बयान

आज का दिन यानी 5 अगस्त पुरे भारत के लिए गौरव का दिन है ! भारत ने जो सपना 500 सो साल पहले देखा था उसके पुरे होने का दिन आज आया है ! आज पुरे भारत वर्ष में श्री राम के नारे लगे है ! इतने वर्सो की लड़ाई के बाद प्रभु श्री राम को उनका घर मिला है ! आज का दिन भारत के इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा ! प्रधान मंत्री ने आज राम मंदिर का शिलान्यास चांदी की ईंट रख  कर  भूमि पूजन का कार्य संपन्न किया !अब शीघ्र ही भगवान् राम का मंदिर बन कर तैयार हो जाएगा और राम भक्त अपने भगवान् के दर्शन कर सकेंगे !

राम मंदिर को लेकर बीजेपी समेत सभी दलों के नेता आज सोशल मीडिया पर राम का गुणगान कर रहे हैं । कांग्रेस भी इनमें से एक है । कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के एक ऐसे ही ट्वीट की चर्चा हो रही है, जिस पर सीएम योगी ने भी प्रतिक्रिया दी है ।

प्रियंका गांधी का ट्वीट
कभी राम के अस्तित्‍व को नकारने वाली कांग्रेस आज राम में ना सिर्फ विश्‍वास की बात कर रही है, बल्कि राम सबके हैं का राग जप रही है । कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने राम मंदिर को लेकर एक ट्वीट किया । उन्‍होने लिखा है – सरलता, साहस, संयम, त्याग, वचनवद्धता, दीनबंधु राम नाम का सार है। राम सबमें हैं, राम सबके साथ हैं। भगवान राम और माता सीता के संदेश और उनकी कृपा के साथ रामलला के मंदिर के भूमिपूजन का कार्यक्रम राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और सांस्कृतिक समागम का अवसर बने। इस ट्वीट के साथ प्रियंका गांधी ने अपना एक वकतव्‍य भी जारी किया है ।

 

सीएम योगी की प्रतिक्रिया
प्रियंका गांधी वाड्रा के ‘राम सबके हैं’ के बयान पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने आज तक से बातचीत में कहा कि राम सबके हैं, यह यह हम बहुत  पहले से कहते आए हैं । यह सद्बुद्धि उस वक्त आनी चाहिए थी, जब यहां पर कुल लोगों के पूर्वजों ने रामलला की मूर्तियों को हटाने की कोशिश की थी । आखिर कौन लोग थे, जो अयोध्या में रामलला का मंदिर नहीं चाहते थे । सीएम योगी ने आगे कहा कि वो कौन लोग थे जो कह रहे थे कि हम गर्भगृह से 200 मीटर दूर शिलान्यास करेंगे । वहां पर कुछ नहीं होना है । विवादित ढांचे में कुछ नहीं करना है ।

राम के नाम पर राजनीति नहीं की
उत्‍त्‍र प्रदेश के सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने आगे कहा कि हमने सबको जोड़ने का काम किया । हमने राम के नाम पर राजनीति नहीं की है भगवान राम के मंदिर के लिए जिस निष्ठा से हम 1984 में जुड़े थे उसी निष्ठा से 2020 में भी जुड़े हुए हैं । लेकिन उन लोगों को सोचना चाहिए । आखिर 1949 में इनकी भावनाएं क्या थी । 1984 में क्या थी और 1992 में क्या थी । उसके बाद क्या थी । समय-समय पर वो सुप्रीम कोर्ट में जाते थे, ये लोग बोलते कुछ हैं और करते कुछ और हैं । हमने जो कहा वो किया । सीएम योगी ने आगे कहा – हमारा मानना है कि राम सबके हैं । सभी लोगों को राम के काज में सहयोग भी करना चाहिए । लेकिन राम के नाम पर समाज को बांटने की कोशिश नहीं करनी चाहिए ।

 

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.