free tracking
Breaking News
Home / ताजा खबरे / श्री राम मंदिर के भूमि पूजन को लेकर प्र’शांत भू’षण ने उड़ाया मजाक

श्री राम मंदिर के भूमि पूजन को लेकर प्र’शांत भू’षण ने उड़ाया मजाक

भगवान् श्री राम के मंदिर निर्माण का समय निकट आ गया है ! पांच अगस्त को अयोध्या में भूमि पूजन की सारी तैयारिया की जा चुकी है !  पूजा के मुहूर्त का समय भी निर्धरित किया जा चुका है ! अयोध्या नगरी को खूब सजाया जाएगा ! दीप जला कर प्रभु श्री राम का स्वागत किया जाएगा ! इस दिन को हमेशा के लिए यादगार बनाने के लिए बहुत शानदार तैयारिया की जा चुकी है! प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी स्वंय मंदिर का शिला न्यास करेंगे ! उनके स्वागत की भी खूब तयारिया की जा चुकी है ! भूमि पूजन के दौरान 1 लाख 11 हज़ार लड्डू का भोग लगाया जाएगा और भक्तो को स्टील के टिफन में बांटा जाएगा ! जहाँ एक पुरे देश में श्री राम का नाम गूंज रहा है वहीँ कुछ लोगो को मंदिर के बनने से काफी जलन  महसूस हो रही है !

अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन (Ram Mandir Bhumi Pujan) का समारोह कार्यक्रम 5 अगस्त को होने जा रहा है! इस खबर के बाद से ही देश के तथाकथित लोगों को मिर्ची लगी हुई है! कोई राम मंदिर भूमि पूजन को रुकवाने के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटा रहा है तो किसी को दूरदर्शन पर किसका लाइव टेलीकास्ट होना कतई पसंद नहीं आ रहा है! इसी कड़ी में देश की कुख्यात वकील प्रशांत भूषण ने अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन समारोह का बुधवार को मजाक उड़ाते हुए एक ट्वीट किया!

उन्होंने कार्टून को शेयर करते हुए लिखा कि “ताली, थाली, मोमबत्ती, पापड़ के बाद, अब हमें सीओवीआईडी से ठीक करने के लिए अयोध्या मंदिर की बारी है!”

उनकी इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर लगातार प्रतिक्रिया सामने आ रही है! उनकी इस बात से सोशल मीडिया पर लोग नाराज प्रतीत हो रहे हैं और उनके मजे ले रहे हैं!

 

आपको बता देगी वकील प्रशांत भूषण का ट्वीट ऐसे समय में आया है जब एआईएमआईएम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने ने मंगलवार को कहा था कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 5 अगस्त राम मंदिर में प्रधानमंत्री के रुप में शिलान्यास समारोह में शामिल नहीं होना चाहिए!

 

 

एआईएमआईएम के प्रमुख ने ट्वीट कर लिखा था कि “पीएमओ द्वारा भूमि पूजन में शामिल होना संवैधानिक शपथ का उल्लंघन होगा। धर्मनिरपेक्षता संविधान की मूल संरचना का हिस्सा है। हम यह नहीं भूल सकते कि बाबरी 400 साल से अधिक समय तक अयोध्या में रही और 1992 में आपराधिक भीड़ द्वारा इसे ध्वस्त कर दिया गया!”

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र दामोदरदास मोदी राम मंदिर की आधारशिला रखने के लिए अयोध्या पहुंचेंगे! वही राम मंदिर भूमि पूजन समारोह के लिए जिन लोगों को आमंत्रित किया जा रहा है उनमें भारतीय जनता पार्टी के नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत भी शामिल है! इतना ही नहीं बल्कि आपको बता दें कि इसका सीधा प्रसारण दूरदर्शन के द्वारा किया जाएगा!

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.