free tracking
Breaking News
Home / देश दुनिया / राष्ट्रपति का एकाउंट बंद करने के बाद ट्विटर पर सरकार ने लगाया बैन,अब पता चलेगी औकात

राष्ट्रपति का एकाउंट बंद करने के बाद ट्विटर पर सरकार ने लगाया बैन,अब पता चलेगी औकात

अभी हाल ही में खबर सामने आई थी जब फेसबुक ने अमेरिका के पूर्व राष्टपति ट्रंप का अकाउंट 2 साल के लिए वैन कर दिया था और आज ये खबर सामने आई है कि ट्वीटर ने नाइजीरिया के  उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू के अकाउंट को ट्विटर ने अनवैरीफाइड कर दिया है। जिसके बाद नाइजीरिया सरकार ने ट्वीटर को ही अपने देश में वैन करने का फैंसला लिया है चलिए जानते है पूरा मामला क्या  है !

इसी विषय में ट्विटर आज सुबह से ही चर्चा का विषय बना हुआ हैकि  उप राष्ट्रपति  वेंकैया नायडू  के अकाउंट को ट्विटर ने अनवैरीफाइड  कर दिया है। साथ ही उनके ट्विटर अकाउंट से ब्लू टिक(Blue Tick) हटा लिया है। हालांकि किरकिरी होने के बाद ट्विटर ने वेंकैया नायडू को ब्लू टिक वापस दे दिया। इसके बाद ही संघ प्रमुख मोहन भागवत के अकाउंट को अनवेरीफाइड कर दिया। उनके अकाउंट से भी ट्विटर ने ब्लू टिक हटा दिया है। ताजा खबर अफ्रीकी देश नाइजीरिया(Nigeria) से आ रही है, वहां इस प्रकार का फैसला लेना ट्विटर को भारी पड़ गया। पूरे नाइजीरिया में ही ट्विटर को बैन कर दिया गया। आइए आपको बतातें है कि पूरा मामला क्या है-

आपको बता दें कि ट्विटर लगातार दक्षिण पंथी विचारधारा वाले नेताओं के ट्विट को डिलीट करता रहता है, जिसकी विचारधारा को वो ‘खत रनाक’ समझता है। अब सवाल है कि यही ट्विटर उन संगठनों के अधिकारियों के अकाउंट पर कोई ए क्शन क्यों नहीं लेता है, जो वास्तव में खत रनाक हैं। आपको बता दें कि जिन देशों में लोकतंत्र है, वहां तो ट्विटर की अपनी मनमानी चल जाती है। लेकिन जहां लोकतांत्रिक व्यवस्था नहीं है, वहां ट्विटर का इस प्रकार का रवैया नहीं चल पाता। अफ्रीकी देश नाइजीरिया में ऐसा ही हुआ है। ट्विटर को नाइजीरिया के राष्ट्रपति मो हम्मद बुहारी के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट को डिलीट करना महंगा पड़ गया। राष्ट्रपति बुहारी ने पूरे देश में ही ट्विटर को बैन कर दिया।

क्या था मामला

गौरतलब है कि 2 दिन पहले ट्विटर ने नाइजीरिया के राष्ट्रपति मो हम्मद बुहारी के अकाउंट को डिलीट कर दिया था। इसके पीछे सोशल मीडिया कंपनी ने दलील दी कि राष्ट्रपति बुहारी ने ट्विटर के नियमों को तो ड़ा है। आपको बता दें कि राष्ट्रपति बुहारी के एक ट्वीट को ट्विटर ने आप त्तिजनक करार दिया था। इस ट्वीट में राष्ट्रपति बुहारी ने ‘देश में सिविल वा र’ का जिक्र किया था। बुहारी ने नाइजीरिया के दक्षिण-पूर्व में हो रही अराजकता का जिक्र किया था। खबरों के मुताबिक यहां के अधिकारियों ने अलगा वादियों पर आ रोप लगाया है कि वो चुनाव अधिकारियों और सुरक्षा बलों पर हम ला कर रहे हैं। जिसके बाद बुहारी ने ‘सिविल वा र’ का जिक्र किया था। मालूम हो कि आज से करीब 50 साल पहले नाइजीरिया में एक गृह यु द्ध हुआ था। इस वाक्या में 10 लाख से ज्यादा लोगों ने इस दुनिया को अलविदा कर दिया था। राष्ट्रपति के उसी ‘सिविल वा र’ वाले ट्वीट को लेकर ट्विटर ने उनका अकाउंट डिलीट कर दिया।

नाइजीरिया ने ट्विटर को ही किया बैन

राष्ट्रपति मो हम्मद बुहारी के ट्वीट के बाद ट्विटर ने उनका ट्विटर अकाउंट ही डिलीट कर दिया। जिसके बाद नाइजीरिया सरकार ने पूरे नाइजीरिया में ही ट्विटर को बैन करने की घोषणा कर दी। नाइजीरिया के एक बड़े अधिकारी ने इस फैसले के पीछे वजह बताई है कि ‘मैं तकनीकी तौर पर नहीं जानता हूं कि और ना ही जवाब दे सकता हूं, लेकिन नाइजीरिया में अनिश्चितकाल के लिए ट्विटर को सस्पेंड कर दिया गया है।’

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.