free tracking
Breaking News
Home / ताजा खबरे / क्यूंकि सावधान रहना है बेहद जरुरी

क्यूंकि सावधान रहना है बेहद जरुरी

आज, इस महामारी का डर पूरी दुनिया में फैला हुआ है।    भारत सहित अन्य सभी देशों को  द’वा का बेसब्री से इंतजार है। लेकिन जब तक इसकी द’वा सभी देशों के लिए उपलब्ध नहीं हो जाती, तब तक यह सरकार के साथ घर के सभी बुजुर्गों की जिम्मेदारी है कि वे अपने परिवार की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखें। लम्बे समय के बाद देश भर के कई राज्यों में स्कुलो भी खुल चुके है

घर के छोटे बच्चे भी इसके संरक्षण में आते हैं। जो स्कूल खुलने पर अपने-अपने स्कूलों में जाएंगे। ऐसी स्थिति में, बच्चों को स्कूल भेजने से पहले, आपको उनकी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए, कोरोना काल में जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन चुकी कई महत्वपूर्ण चीजों को सिखाना और समझाना होगा।

आइए जानते हैं क्या हैं वो बातें।

  • बच्चों को दें सोशल डिस्टेंसिंग का मंत्र-
    स्कूल शुरू होने से पहले बच्चों को सामाजिक भेद का महत्व समझाएं। बच्चों के डेस्क को बहुत दूर रखें ताकि वे खाली रहें।
  • हाथ धोने की आदत
    बता दें कि सिस्टम को टच करने के बाद डोर हैंडल, टैप हैंडल, हाथों को अच्छी तरह से साफ करें। कम से कम 20 सेकंड के लिए बच्चों को अपने हाथ धोने की आदत डालें। इसके अलावा बच्चों को हैंड सैनिटाइजर का भी इस्तेमाल करने के लिए कहें।
  • मास्क पहनना जरूरी-
    उन बच्चों को समझाएं, जहां सामाजिक गड़बड़ी संभव नहीं है, कपड़े पर मास्क रखें। अपने बच्चे के बैग में हमेशा एक अतिरिक्त मास्क रखें ताकि अगर वह अपना मास्क बदलना चाहे, तो वह आराम से कर सके। बच्चे को समझाएं कि उसे अपने दोस्तों के साथ अपना मुखौटा नहीं बदलना है।
  • झूठा खाने से करें परहेज-
    बता दें कि बच्चों को कोविद -19 के कारण अपने दोस्तों के टिफिन बॉक्स या स्कूल में उनके झूठे भोजन से नहीं खाना चाहिए।
  • खांसते समय कोहनी या रूमाल का प्रयोग –
    बच्चों को समझाएं कि जब भी वे स्कूल में छींकें या खांसें, उन्हें अपने मुंह के पास रूमाल का इस्तेमाल करना चाहिए ताकि संक्रमण दूसरे बच्चों में न फैले

दि आपको हमारी ये जानकारी पसंद आई हो तो लाईक, शेयर व् कमेन्ट जरुर करें, रोजाना ऐसी ही जानकारी के लिए हमें फ़ॉलो जरुर करें.

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.