free tracking
Breaking News
Home / ताजा खबरे / दहेज में क्रेटा न देने पर विवाहिता की कर दी हत्’या,ऐसे खुला सारा सच

दहेज में क्रेटा न देने पर विवाहिता की कर दी हत्’या,ऐसे खुला सारा सच

दोस्तों जैसा कि सभी को मालूम है सदियों से दहेज प्रथा चलती आ रही है .और आज भी ये प्रथा जोरो से चल रही है .दहेज़ के लालची आज भी बिना डरे मुह फाड़ के दहेज़ मांगते है .यही नही शादी के बाद भी ये सिलसिला खत्म नही होता .यदि उनकी मांगे पूरी नही की जाती तो लड़की को मारा -पिटा  जाता है .तरह -तरह की यातनाओं से गुजरना पड़ता है .और अंत में हारकर लड़की आत्म -ह-त्या कर लेती है या दहेज़ के लालची उसे खुद मौ-त के घाट उतार देते है .आज हम आपको ऐसे ही एक मामले के बारे में बताने वाले है.जिसमे एक पिता ने अपनी बेटी के ससुराल वालो के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई  है .

शादी के बाद ‘क्रेटा’ गाड़ी नहीं दे पाया इसलिए मेरी बेटी को दहेज लोभियों ने जहर देकर मार दिया. एक ऐसी ही शिकायत बिलासपुर थाना क्षेत्र में विवाहिता की संदिग्ध मौत के बाद दर्ज करवाई गई है. दरअसल बीती 7 मार्च को गुरुग्राम पुलिस को 26 वर्षीय विवाहिता तनुजा की संदिग्ध मौत (Suspicious death) की सूचना मिली थी. मौके पर पहुंची पुलिस (Police) ने तफ़्तीश में पाया कि मृतका की मौत जहरीला प्रदार्थ खाने से हुई थी.फिलहाल पुलिस ने मृतका के पिता की शिकायत पर मामला दर्ज कर तफ़्तीश शुरू कर दी है. एसीपी क्राइम की मानें तो पुलिस ने इस मामले में 304-B दहेज हत्या, 498-A, यानी दहेज की मांग करना और 34 आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर आरोपियों की गिरफ्तरी के प्रयास तेज कर दिए हैं.

दरअसल बीते साल 20 मई 2020 को मृतका तनुजा और खरखड़ी गांव के संदीप की लव कम अरेंज्ड मैरिज हुई थी. जिसके बाद से संदीप और उसके परिजनों ने तानों और तरह तरह की शारीरिक और मानसिक प्रताड़ना तनुजा पर जुल्मों सितम कर शुरू कर दिया. हालांकि कई बार इसको लेकर दोनों परिवारों के बीच बातचीत हुई लेकिन बावजूद इसके संदीप और उसके परिजनों की दहेज की डिमांड बढ़ती चली ग. जिससे परेशान हो तनुजा की संदिग्ध मौत हो गई.

बैंक में एक्जीक्यू

एक्जीक्यूटिव पद पर तैनात थी मृतका

मृतका तनुजा गुरुग्राम के हयातपुर इलाके के एचडीएफसी बैंक में एक्जीक्यूटिव पद पर तैनात थी. फिलहाल पुलिस मामले की तफ़्तीश में जुटी है. बता दें कि बीते दिनों अहमदाबाद की साबरमती नदी में डूबने वाली आयशा का मामला हो या फिर निजी बैंक में काम करने वाली तनुजा की बात हो हर साल दर्जनों ऐसी दहेज हत्या की शर्मनाक घटनाएं विभिन्न थानों पर दर्ज तो होती है. लेकिन बावजूद इसके दहेज हत्याओं के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे है.

 

About Lakshmi

Leave a Reply

Your email address will not be published.