free tracking
Breaking News
Home / बॉलीवुड / न्याय के लिए मैदान में उतरे बिहार के सिंघम

न्याय के लिए मैदान में उतरे बिहार के सिंघम

अभिनेता सु’शां’त सिं’ह के केस में बिहार पुलिस जम का जांच करने में जुटी हुयी है ! बिहार पुलिस को मुम्बई पुलिस का बिलकुल भी सहयोग नहीं मिला ! बल्कि उन्होंने ये कहा है कि बिहार पुलिस को जांच का कोई अधिकार नहीं है ! मुम्बई के कपूर अ’स्पता’ल ने भी सु’शां’त की कोई जानकारी देने से मना कर दिया है ! लेकिन फिर भी बिहार पुलिस की छोटी से टीम ने काफी बड़ा कमाल कर दिखाया है !

भले ही बिहार पुलिस को मुंबई पुलिस का सहयोग ना मिला हो लेकिन टीम के चार सदस्यों ने तमाम सबूत जुटा डालें जो अब तक मुंबई पुलिस की पहुंच से दूर थे! बता दें कि SP विनय तिवारी को क्वारेनटाईन करने  के बाद बिहार पुलिस गुस्से में है! जिसके चलते अब बिहार के डीजीपी मुंबई पुलिस और महाराष्ट्र के डीजीपी के खिलाफ नाराजगी जता रहे हैं लेकिन सुशांत सिंह मामले में इस वक्त की बड़ी खबर सामने आ रही है कि उनके मुताबिक बिहार पुलिस ने अब तक डीआईजी रैंक के अधिकारियों को मुंबई भेजने की प्लानिंग की है!

अभिनेता सुशांत के मामले में बिहार के सुपरकॉप्स माने जाने वाले अधिकारियों में से एक को अपनी जिम्मेदारी मिल सकती है! मिली जानकारी के अनुसार डीआईजी रैंक के जिस अधिकारियों मुंबई भेजने की तैयारी की जा रही है उनमें कई नाम सबसे ऊपर है! एटीएस के डीआईजी विकास वैभव, मुंगेर के डीआईजी मनु महाराज और एसटीएफ के डीआईजी विनय कुमार में से किसी एक को मुंबई भेजा जा सकता है! माना जा रहा है कि क्वॉरेंटाइन से बचने के लिए अधिकारी को फ्लाइट की वजह सड़क मार्ग से मुंबई भेजा जा सकता है! हालांकि इस पर अभी तक कोई फैसला नहीं लिया गया है!

एटीएस के डीआईजी विकास वैभव सुशांत मामले को लेकर अधिकारियों के नाम की चर्चा में सबसे ऊपर है! उनका रिकॉर्ड भी बेहद शानदार रहा है! विकास वैभव साइलेंट रहकर आउटपुट देने में माहिर है! इतना ही नहीं बल्कि इसके अलावा पटना के सिंघम के तौर पर पहचान रखने वाले मनु महाराज का नाम भी चर्चा में है! मनु महाराज फिलहाल मुंगेर के डीआईजी है लेकिन वह पटना के सीनियर SSP रहे चुके हैं!

मनु महाराज पटना कि नहीं बल्कि कई इंटरस्टेट मामलों में उनकी बड़ी भूमिका रही है! सुशांत के मामले में जिस तीसरे डीआईजी रैंक के अधिकारी की चर्चा हो रही है वह एटीएस डीआईजी विनय कुमार हैं! विनय कुमार का काम करने का तरीका बिल्कुल ऐसा ही है जैसे मुंबई क्राइम ब्रांच की पुलिस करती है! जैसे मुंबई पुलिस बिहार पुलिस के काम में अड़ंगा लगा रही है ऐसे में उन से निपटने के लिए और जांच को आगे बढ़ाने के लिए डीआईजी विनय कुमार सबसे बेहतरीन विकल्प हो सकते हैं! हालांकि अब यह देखना बाकी रह गया है कि बिहार पुलिस इनमें से किसके ऊपर सबसे ज्यादा भरोसा करती है और इनमें से किस को मुंबई भेजा जा सकता है!

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.