free tracking
Breaking News
Home / ताजा खबरे / अमीर बनने का सपना देखने वाला ऑटो ड्राईवर 25 करोड़ की लॉटरी जीतने पर भी दुखी, दे रहा किस्मत को दोष

अमीर बनने का सपना देखने वाला ऑटो ड्राईवर 25 करोड़ की लॉटरी जीतने पर भी दुखी, दे रहा किस्मत को दोष

मित्रों आपने ये कहावत तो जरूर सुनी होगी कि, ‘ऊपर वाला जब भी देता है, छप्पड़ फाड़ के देता है’ या फिर इंसान की किस्मत कब बदल जाए कुछ कहा नहीं जा सकता और कभी-कभी रातों रात उसकी किस्मत बदल जाती है लेकिन जब समय आता है और किस्मत भी मेहरबान होती है और वारे-न्यारे हो जाते है किस्मत बदलती देर नहीं लगती किस्मत कभी भी पलट सकती है राजा को रंक बना सकती है तो रंक को चुटकी बजाते ही राजा बना देती है अगर रातों-रात आपकी किस्मत बदल जाये तो क्या आप मानेंगे अगर आप भी रातों-रात करोड़ो के मालिक बन जाए क्या ऐसा हो सकता है बिल्कुल हो सकता है अगर आपको भी इतने रूपये मिल जाये तो आप ख़ुशी से झूम जाओगे लेकिन  एक ऐसा ही मामला सामने आया है जहाँ केरल के ऑटो ड्राइवर की किस्मत रातों-रात बदल गई पर वो ऑटो चलाक इतना रुपया मिलने की बाद उसे अपने किस्मत पर पछता रहा है ऐसा क्यों इस खबर के बारे में विस्तार से जानने के लिए खबर को विस्तार से जानने के लिए पोस्ट के अंत तक बने रहिये।

25 करोड़ रुपए लॉटरी जीतने से दुखी हुआ ऑटो चालक, इस वजह से हो रहा अपनी किस्मत पर पछतावा

दरअसल तिरुवनंतपुरम के केरल में एक ऑटो चालक अनूप के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ है ऑटो चालक की किस्मत ऐसी पलटी कि वो रातों रात करोड़पति बन गए ऑटो चालक ने केरल ओणम रैफल में 25 करोड़ रुपए का प्रथम पुरस्कार जीता ये किसी के लिए भी बहुत बड़ी बात हो सकती है ये सब कुछ पा लेने जैसा माना जायेगा, लेकिन इतनी बड़ी रकम जीतने के बाद अब ऑटो चालक पछता रहा है ऑटोरिक्शा चालक अनूप का कहना है कि उन्हें अपनी जीत का पछतावा है “मैंने मन की सारी शांति खो दी है और मैं अपने घर में भी नहीं रह सकता क्योंकि मैं उन लोगों से घिरा हुआ हूं जो मुझे अपनी विभिन्न जरूरतों के लिए मुझसे मिलना चाहते हैं अब मैं जगह बदलता रहता हूं क्योंकि मैंने मन की वह शांति खो दी है जिसका मैंने पुरस्कार जीतने तक आनंद लिया अनूप अपनी पत्नी, बच्चे और मां के साथ मुख्य राजधानी शहर से करीब 12 किमी दूर श्रीकार्यम में रहता है।

मिली जानकारी के मुताबिक जीत का टिकट अनूप ने यहां के एक स्थानीय एजेंट से अपने बच्चे की छोटी बचत पेटी को तोड़कर लिया था. कर और अन्य बकाया राशि में कटौती के बाद, अनूप को पुरस्कार राशि के रूप में 15 करोड़ रुपये की राशि मिलेगी उसने कहा, “अब मैं वास्तव में चाहता हूं, मुझे इसे नहीं जीतना चाहिए था मैं, ज्यादातर लोगों की तरह, मुझे वास्तव में एक या दो दिन के लिए पूरे प्रचार के साथ जीतने में मजा आया लेकिन अब यह एक खतरा बन गया है और मैं बाहर भी नहीं निकल सकता लोग मेरे पीछे हैं और मुझसे मदद मांग रहे हैं।” वह अपने सोशल मीडिया अकाउंट का इस्तेमाल लोगों को यह बताने के लिए कर रहे हैं कि उन्हें अभी पैसा नहीं मिला है अनूप ने कहा, “मैंने तय नहीं किया है कि पैसे का क्या करना है और फिलहाल, मैं दो साल के लिए पूरा पैसा बैंक में रखूंगा अब मैं वास्तव में चाहता हूं कि मेरे पास यह नहीं होना चाहिए, इसके बजाय, पुरस्कार की राशि कम होती तो बेहतर होता।” अनूप को अफसोस है कि अब वह दौर आ गया है, जहां उनके जाने-पहचाने लोग दुश्मन बन जाएंगे। नाराज अनूप ने कहा, “मेरे पड़ोसी नाराज हैं क्योंकि मेरे आस-पड़ोस में कई लोग बाहर से आते हैं। मास्क पहनने के बाद भी लोग मेरे चारों ओर भीड़ लगाते हैं कि मैं विजेता हूं। मेरे मन की शांति गायब हो गई है।”

About Lakshmi