free tracking
Breaking News
Home / ताजा खबरे / सूरत के केमिकल फैक्ट्री में हुआ बड़ा हादसा,इतने लोगो की हुई मौ’त,50 से ज्यादा घायल

सूरत के केमिकल फैक्ट्री में हुआ बड़ा हादसा,इतने लोगो की हुई मौ’त,50 से ज्यादा घायल

दोस्तों कभी की भी किसी के साथ भी अचानक कोई भी हादसा हो सकता है. कुछ हादसों में थोडा बहुत नुक्सान होता है पर जान बच  जाती है लेकी कुछ हादसे इतने भयानक होते  है जिसकी कल्पना भी नही की जा सकती जिसमे और  नुक्सान तो होता ही है साथ में बहुत सी जाने भी चली जाती है .हालही में सूरत से ऐसे ही एक दर्दनाक घटना की खबर सामने आई है जिसमे कितने ही लोग सिरियस कंडिशन में बताये जा रहे है और कुछ की मौत हो गयी है .क्या है पूरा मामला जानने के लिए खबर को अंत तक पढ़े .

सूरत में गुरुवार को सचिन इलाके में स्थित विश्व प्रेम डाइंग एंड प्रिंटिंग मिल में केमिकल टैंकर के लीक होने से 6 लोगों की मौत हो गई है. इस हादसे में 25 से ज्यादा लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है.फिलहाल सभी मजदूरों को अस्पताल में दाखिल करा दिया गया है. सुबह हुए इस हादसे के बाद मिल में हड़कंप मच गया. मजदूरों के बीच अफरा तफरी मच गई. फौरन घटना की सूचना पुलिस को दी गई है. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच शुरू कर दी है.

सिविल अस्पताल के डॉक्टर ओमकार चौधरी ने बताया कि सूरत के सचिन जीआईडीसी इलाके की एक कंपनी में आज तड़के गैस रिसाव से छह लोगों की मौत हो गयी और 20 अन्य लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जानकारी के मुताबिक मिल के पास स्थित नाले में अज्ञात टैंकर चालक जहरीला केमिकल नाले में डाल रहा था. इस दौरान उसमें से एक जहरीली गैस का रिसाव होने लगा. इसके चलते पास ही में स्थित प्रिंटिंग मिल के कर्मचारी भी इसकी चपेट में आ गए.
अहमदाबाद में गैस रिसाव से गईं थी कई जाने

इसे पहले भी गुजरात में केमिकल प्लांट में गैस रिसाव के कारण कई लोगों के जाने चली गई थी. 2020 में अहमदाबाद एक केमिकल प्लांट से गैस रिसाव हो गया था. जिसमें चार लोगों की मौत हो गई थी. जबकि 13 से ज्यादा लोग गंभीर रूप से बीमार हुए थे. दरअसल ये सभी कर्मचारी एक केमिकल वेस्‍ट के एक टैंक को साफ करने के लिए उसमे उतरे थे. वहां उसमें से निकलने वाली जहरीली गैस उनकी सांस में चली गई. इसी वजह से उनकी मौत हो गई.

विशाखापट्टनम में गैस कांड में गई थी 11 जाने

7 मई 2020 को आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम के एक केमिकल प्लांट में गैस लीक होने से 11 लोगों की मौत हो गई थी. 5 हजार से ज्यादा लोगों बीमार हो गए थे. बताया जाता है कि आंखों में जलन और सीने में तकलीफ की शिकायत के बाद बहुस से लोग सड़कों पर बेहोश होकर गिर पड़े थे. इस औद्योगिक त्रासदी ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया था.

About Lakshmi

Leave a Reply

Your email address will not be published.