free tracking
Breaking News
Home / ताजा खबरे / क्रिसमस के अवसर पर 5000 ईसाईयों ने अपनाया हिन्दू धर्म

क्रिसमस के अवसर पर 5000 ईसाईयों ने अपनाया हिन्दू धर्म

दोस्तों आजकल लोग अपने धर्म छोड़कर दुसरे धर्म को अपना रहे है .इसके बहुत से कारण  हो सकते है . एक तो कुछ लोगो की दुसरे धर्म में आस्था हो और वो अपनी मर्जी से उसको अपनाये . लेकिन कुछ लोग ऐसे भी है जो लोगो को पैसे का लालच देकर धर्म परिवर्तन करवा देते है .लेकिन अब ऐसा बिलकुल भी नही है. जंहा दुनिया भर में क्रिसमस का जश्न मनाया जा रहा था .तभी लगभग 5000 से अधिक लोगों ने हैरान कर देने वाला काम कर दिखाया .जिसकी चर्चा हर तरफ हो रही है . क्या है पूरा मामला जानने के लिए खबर को अंत तक पढ़े .

क्रिसमस के अवसर पर 5000 से अधिक लोग बने हिंदू

जैसा कि आपको पता है कि हाल ही में क्रिसमस (Christmas) का त्यौहार मनाया गया था। हालांकि कई लोग ऐसे थे जो क्रिसमस के त्यौहार पर इसे मनाना उचित नहीं समझ रहे थे। यही वजह है कि सनातनी संस्कृति को मानने वाले लोग 25 दिसंबर को तुलसी पूजन दिवस मना रहे थे। लेकिन ठीक इसी दिन एक और भी काम हुआ है जिसे लेकर खूब चर्चाएं हो रही है। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के राज में उत्तर प्रदेश के आगरा में 5000 लोगों ने हिंदू धर्म को अपनाया है।

यज्ञ की वेदी को साक्षी मानकर अपनाया हिंदू धर्म

उत्तर प्रदेश के आगरा में कोठी मीना बाजार मौजूद है। यही लगभग 5000 से अधिक लोगों ने क्रिसमस के अवसर पर यज्ञ की वेदी को साक्षी मानकर हिंदू धर्म को अपनाया है। सिर्फ इतना ही नहीं उन लोगों ने यह श पथ भी ली है कि वह कभी भी किसी अन्य धर्म में शामिल नहीं होंगे। धर्म जागरण समन्वय विभाग के क्षेत्र प्रमुख राजेश्वर सिंह (Rajeshwar Singh) ने कहा है कि इस वर्ष में लगभग 12000 से अधिक लोगों ने हिंदू धर्म को अपनाया है। इसमें आगरा (Agra), अलीगढ़ (Aligarh) और बरेली (Bareilly) के लोग शामिल थे।

कई क्षेत्र में हिंदुओं की हो रही है संख्या कम

राजेंद्र प्रसाद (Rajendra Prasad) ने मीडिया से बातचीत करने के दौरान कहा है कि हमारे देश में कई ऐसे क्षेत्र हैं जहां हिंदुओं की संख्या लगातार कम होती जा रही है। सिर्फ इतना ही नहीं उन्होंने यह भी कहा है कि जहां से भी हिंदुओं की संख्या कम हो रही है वह भा ग हमारे देश से बाहर होता दिख रहा है क्योंकि पश्चिमी संस्कृति (Western Culture) को बढ़ावा देने के लिए कई लोग लगातार काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा है कि कई क्षेत्रों में हिंदू अल्पमत में आ गए हैं। यह हमारे देश के लिए सही नहीं है।

 

About Lakshmi

Leave a Reply

Your email address will not be published.