free tracking
Breaking News
Home / ताजा खबरे / भारत में हर मिनट में बनेगे 500 टीके

भारत में हर मिनट में बनेगे 500 टीके

सारी  दुनिया में कोरोना का आतंक ख़त्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है ! वा’यर’स से संक्रमित लोगो की संख्या में रोजना वृद्धि होती जा रही है! पूरी दुनिया में इसे रोकने ने अलग अलग पर्यास किये जा रहे है लेकिन फिर भी संक्रमित लोगो के आंकड़े बढ़ते जा रहे है ! भारत के हर राज्य में सुरक्षा के कड़े नियम अपनाए जा रहे है ! ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगो की जान बचाई जा सकें ! जबसे इस वायरस ने दस्तक दी है तभी से  दुनिया के तमाम देश इसकी वैक्सीन बनाने की  की रेस में लगे हुए है !

कोरोना वैक्सीन बनाने की रेस में भारत समेत दुनियाभर की कई कंपनियां लगी हुई हैं। कइयों के ट्रायल्स अंतिम चरण में हैं तो कई कंपनियों ने अभी पहला और दूसरा चरण ही पूरा किया है। भारत में जो कंपनी वैक्सीन बनाने का काम कर रही है, उसका नाम सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया है। पुणे में स्थित यह कंपनी दुनिया की सबसे बड़ी वैक्सीन बनाने वाली कंपनी है। सीरम इंस्टिट्यूट के मुख्य कार्यकारी अदार पूनावाला ने बड़ी मात्रा में वैक्सीन तैयार करने का दावा किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उनका कहना है कि प्रति मिनट के हिसाब से वैक्सीन के 500 डोज तैयार हो रहे हैं। हालांकि इनकी मात्रा कितनी होगी, इस बारे में कंपनी की ओर से अभी तक स्पष्ट नहीं किया गया है।

सीरम इंस्टिट्यूट कंपनी ऑक्सफोर्ड के वैज्ञानिकों के साथ मिलकर कोरोना वैक्सीन तैयार करने में लगी हुई है। यह वैक्सीन एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की तरफ से विकसित की जा रही है।

चूंकि भारत में बहुत तेजी कोरोना का संक्रमण फैल रहा है। यहां कोरोना पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 17 लाख के पार पहुंच गई है जबकि 37 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। ऐसे में भारत में बड़े पैमाने पर वैक्सीन की जरूरत पड़ेगी। माना जा रहा है कि इस स्थिति से निपटने के लिए अदार पूनावाला भारत और बाकी दुनिया के बीच वैक्सीन का बंटवारा 50-50 के हिसाब से कर सकते हैं।

अदार पूनावाला का कहना है कि उनकी वैक्सीन की कीमत बेहद ही कम होगी। उन्होंने दावा किया कि तेजी के साथ-साथ बहुत कम लोग ही कम कीमत पर वैक्सीन का उत्पादन कर सकते हैं। उनका कहना है कि वैक्सीन की पहले खेप के लिए उनके पास देश-विदेश से लोगों के फोन आ रहे हैं, लेकिन उन्हें उन लोगों को समझाना पड़ता है कि वो ऐसे ही किसी को भी वैक्सीन नहीं दे सकते हैं।

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन ChAdOx1 के भारत में इंसानों पर परीक्षण के लिए भारत सरकार से मंजूरी मांगी है। पूनावाला ने कहा कि मंजूरी मिलते ही हम देश में वैक्सीन का परीक्षण शुरू कर देंगे। साथ ही बड़ी मात्रा में वैक्सीन बनाने का काम भी शुरू कर दिया जाएगा। इससे पहले दावा किया गया था कि अगर सबकुछ सही रहा तो साल के अंत तक यह वैक्सीन बाजार में उपलब्ध हो जाएगी।

अदार पूनावाला का कहना है कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया शुरू-शुरू में हर महीने 40 से 50 लाख वैक्सीन की खुराक बनाने पर ध्यान देगी। बाद में इसकी मात्रा बढ़ाकर सालाना 35 से 40 करोड़ तक किया जाएगा, जिससे हर किसी को वैक्सीन मिल सके। पूनावाला का यह भी कहना है कि उनकी कंपनी अगले साल से अंत तक अपनी वैक्सीन लॉन्च करने पर विचार कर रही है।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.