free tracking
Breaking News
Home / ताजा खबरे / 3400 करोड़ रुपये के बिटकॉइन बेकार समझ कर कचरे में डाल दिए,जब किमत पता चली तो 8 साल से खोज रहा

3400 करोड़ रुपये के बिटकॉइन बेकार समझ कर कचरे में डाल दिए,जब किमत पता चली तो 8 साल से खोज रहा

दोस्तों जब भी हम साफ़ -सफाई करते है तो अक्सर बेकार पड़ी चीजों को कचरे के डिब्बे में डाल देते है . जैसे चार्जर ,हैडफ़ोन ,पेन और भी बहुत सी चीज़े लेकिन कई बार साफ़ -सफाई के चक्कर में हम अपनी जरूरी चीज़े भी गलती से फेंक देते है जिसके बारे में हमे बाद में पता चलता है .लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी होती है . कभी कभी तो वो चीज़ इतनी कीमती होती है जिसके खोने से भारी नुक्सान तो होता ही है साथ ही  में जिन्दगी भर उस गलती का पछतावा भी होता है . ऐसा ही एक मामला सामने आया है जिसमे आठ साल पहले एक शख्स ने गलती से इतनी कीमती चीज़ को कचरे में जला दिया जिससे उसका करोड़ो का नुक्सान होगया .

ब्रिटेन के एक 35 वर्षीय आईटी कर्मचारी ने 8 साल पहले अपनी हार्ड ड्राइव कचरे में फेंक दी थी जिससे उसे इतना बड़ा नुकसान उठाना पड़ा है जिसकी उन्होंने कभी कल्पना भी नहीं की होगी। । जेम्स हावेल्स नाम के इस आईटी कर्मचारी ने इस हार्ड डिस्क में क्रिप्टोकरेंसी की ‘प्राइवेट की’ स्टोर कर रखी थी जिसकी कीमत आज 45 करोड़ डॉलर यानि लगभग 3400 करोड़ रुपये हो गई है। अब जेम्स इस पेन ड्राइव को तलाश रहे हैं और इसे पाने के लिए हर संभावना पर काम कर रहे हैं। अब वो इसके लिए नासा के एक्सपर्ट के पास पहुंचे हैं।

खराब समझ कूड़े में फेंक दी हार्ड ड्राइव

हॉवेल्स ने 2009 में क्रिप्टो माइनिंग की शुरुआत की थी और इससे मिले बिटकॉइन की कीमत आज 3400 करोड़ रुपये से ज्यादा हो गई है। क्रिप्टोकरेंसी को खरीदने या बेचने के लिए एक प्राइवेट चाबी मिलती है जिसे क्रिप्टो प्लेटफॉर्म पर देना होता है तभी आप ट्रांजेक्शन कर सकते हैं। हावेल्स ने ये चाबी अपनी हार्ड डिस्क में रख दी थी लेकिन 2013 में एक बार ऑफिस की सफाई के दौरान उन्होंने गलती से इस हार्ड ड्राइव को कचरा समझकर कूड़े में फेंक दिया।

कचरे में पड़ी है अरबों रुपये की संपत्ति

जब उन्हें पता चला कि उनकी हार्ड ड्राइव के साथ ही उनकी अरबों रुपये की संपत्ति भी कचरे में चली गई है तो उनके होश उड़ गए। तब से जेम्स लगातार हार्ड डिस्क को पाने की कोशिश में लगे हुए हैं लेकिन उनके लिए यह आसान नहीं होने वाला है। सबसे बड़ी मुश्किल तो कचरे के पहाड़ में हार्डड्राइव को ढूढ़ना है। उसमें भी न्योपोर्ट सिटी का प्रशासन उन्हें कचरे में ढूढ़ने की अनुमति नहीं दे रहा है।उन्होंने न्यूपोर्ट सिटी प्रशासन को पेन ड्राइव ढूढ़ने में मदद करने के लिए मिलने वाली संपत्ति का 25 प्रतिशत उन्हें देने का प्रस्ताव भी दिया है लेकिन उसके बाद भी उन्हें अनुमति नहीं मिल रही है।

बढ़ती ही जा रही है कीमत मेट्रो की खबर के मुताबिक जेम्स हॉवेल्स ने बताया कि उनके पास एक जैसी ही दो हार्ड ड्राइव थी और उन्होंने गलती से वो हार्ड ड्राइव फेंक दी जिसमें बिटकॉइन की प्राइवेट चाबी रखी थी। उन्होंने हंसते हुए कहा कि वह पहले आदमी नहीं है जिसने गलती से सही चीज फेंक दी हो लेकिन पहले जरूर हैं जिसका ऐसी गलती से करोड़ों पाउंड का नुकसान हुआ है। जेम्स ने यह भी कहा कि एक दिन ऐसा भी आएगा जब उस हार्ड ड्राइव में रखी फाइल की एक अरब पाउंड (100 अरब रुपये) से ज्यादा हो जाएगी और उनका विश्वास है कि उस समय भी ड्राइव इस हालत में होगी कि उससे बिटकॉइन को प्राप्त किया जा सकेगा।

दुनिया भर के एक्सपर्ट के संपर्क में जेम्स ने बताया है कि उन्होंने हार्ड ड्राइव को खोजने के लिए दुनिया भर के इंजीनियरों, पर्यावरणविदों और डेटा रिकवरी विशेषज्ञों से संपर्क किया है। उन्होंने बताया कि क्षेत्र के सभी विशेषज्ञों को उन्होंने इस काम के लिए अपने साथ रखा है इसमें ऐसे लोग भी शामिल हैं जिन्होंने कोलंबिया अंतरिक्ष शटल आपदा के समय नासा के साथ काम किया है।

नासा के एक्सपर्ट से मांगी मदद जेम्स ने कहा ‘मैंने डेटा रिकवरी विशेषज्ञों से बात की है जिन्होंने कोलंबिया अंतरिक्ष शटल आपदा पर नासा के साथ काम किया है। वे एक ऐसे शटल से उबरने में सक्षम थे जिसमें विस्फोट हुआ था और उन्हें नहीं लगता कि लैंडफिल पर होना कोई समस्या होगी।’ जेम्स ने बताया न्यूपोर्ट सिटी के डंप (जहां शहर का कूड़ा फेंका जाता है) पर पड़ी उनकी हार्ड ड्राइव में मौजूद बिटकॉइन का मूल्य वर्तमान में लगभग 45 करोड़ डॉलर है – लेकिन डर है कि अधिकारियों के अनुमति देने से पहले ही यह 1 अरब डॉलर तक पहुंच सकता है।

About Lakshmi

Leave a Reply

Your email address will not be published.