free tracking
Breaking News
Home / देश दुनिया / ड्रेगन को मिला करारा जबाब

ड्रेगन को मिला करारा जबाब

ची-न की बै-लिस्टिक मिसाइल से अ-मेरिका का पारा हाई हो चुका है। ट्रंप ने लाल आर्मी को सबक सिखाने की पूरी प्लानिंग कर ली है। ड्रै-गन को करारा जवाब देने के लिए अमेरिका ने प्र-शांत म-हासागर में अपने जंगी जहाज, सबमरीन और फाइटर विमान भेजे हैं।

50 महाविनाशक जंगी जहाज और पनडुब्बी, 200 फाइटर जेट, हेलिकॉप्टर और 5300 जवान, ये अमेरिका का रौद्र रूप है। साउथ चाइना सी में चीन ने 4 बैलिस्टिक मिसाइल क्या दागी तो ट्रंप को गुस्सा आ गया। ट्रंप का पारा इतना हाई हो गया कि उन्होंने चीन को करारा जवाब देने के लिए हिंद महासागर में अपने जंगी जहाजों के बेड़ों को उतार दिया ताकि चीन को ये अच्छी तरह से पता चल जाए कि अमेरिका सुपरपॉवर है।

दुनिया की सबसे बड़ी इस वॉर एक्सरसाइज में अमेरिका समेत 10 देश शामिल हैं।

जापान,फ्रांस,ऑस्ट्रेलिया,ब्रुनई,कनाडा,न्यूजीलैंड,दक्षिण कोरिया,फिलीपींस,सिंगापुर

दुनिया की सबसे बड़ी वॉर एक्सरसाइज ठीक ऐसे वक्त में हो रही है, जब चीन की दादागीरी से पूरी दुनिया परेशान है। अमेरिका और चीन में दुश्मनी हो चुकी है। साउथ चाइना सी में चीन का वर्चस्व अमेरिका का पारा बढ़ा रहा है। ड्रैगन को रोकने के लिए अमेरिका ने साउथ चाइना सी में अपने एयरक्राफ्ट कैरियर को तैनात कर दिया है। ट्रंप के आदेश पर ये एयरक्राफ्ट कैरियर पूरे इलाके में गश्त कर रहा है और चीन की हरकतों की निगरानी कर रहा है।

अमेरिका की तैयारी पूरी है, लेकिन ड्रैगन ने भी हथियार नहीं डाले हैं। साउथ चाइना सी में बनाए कृत्रिम द्वीप पर चीन ने भी फाइटर जेट तैनात कर दिए हैं। चीनी सबमरीन और वॉरशिप इलाके में घूम रहे हैं। साउथ चाइन सी को लेकर चीन का जापान, मलेशिया, वियतनाम और फिलीपींस के साथ तनाव तो चल ही रहा है। साथ ही उसने हांगकांग पर जबरन कब्जे के बाद ताइवान पर भी टेढ़ी नजर डाल दी है।

ड्रैगन ने ताइवान के पास पानी और जमीन पर चलने में सक्षम युद्धपोतों और लड़ाकू विमानों की तैनाती की है। लाल सेना ताइवान के पास लगातार युद्धभ्यास भी कर रही है। चीन की हरकतों से साफ लग रहा है कि कि वो ताइवान पर कब्जे की तैयारी में है।

चीन ने ताइवान को धमकी दी है कि वो चीन का हिस्सा बन जाए, नहीं तो ड्रैगन आर्मी पर उस पर कब्जा कर लेगी। दुनिया के हर हिस्से में महाशक्तियां अपने हथियारों की मारक क्षमता का अंदाजा लगाने में लगी हुई हैं। चीन और अमेरिका की दुश्मनी दुनिया के लिए बड़ा खतरा बनी हुई है। वहीं अमेरिका और चीन का एक दूसरे को उकसाने वाली हरकत वर्ल्ड वॉर का रेड सिग्नल जैसी लग रही है।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.