free tracking
Breaking News
Home / देश दुनिया / ये था वो सवाल जिसने 21 साल बाद हरनाज सिंधु को बनाया मिस यूनिवर्स

ये था वो सवाल जिसने 21 साल बाद हरनाज सिंधु को बनाया मिस यूनिवर्स

मित्रो जैसा की आप सभी अवगत ही होगें कि इस बार चंडीगढ़ की गलियों में घूमने वाली हरनाज संधू ने मिस यूनिवर्स का खिताब अपने नाम कर एक नया इतिहास रच दिया है। आपको बता दें कि यह भारत के लिये एक बड़ा दिन है क्योंकि 70वीं मिस यूनिवर्स 2021 में देश का प्रतिनिधित्व करने वाली पंजाब की रहने वाली हरनाज संधू ने खिताब जीता है। 21 साल की हरनाज ने 2000 में लारा दत्ता के खिताब जीतने के 21 साल बाद मिस यूनिवर्स का ताज जीता है। यानी जिस साल लारा ने खिताब जीता था उसी साल हरनाज पैदा हुई थी। इज़राइल के इलियट में आयोजित प्रतियोगिता में, हरनाज़ संधू ने पराग्वे और दक्षिण अफ्रीका के प्रतियोगियों को हराया।

आपको बता दें कि 21 साल की हरनाज ने मॉडलिंग व कई पेजेंट में हिस्सा लेने और जीत हासिल करने के बावजूद भी पढ़ाई पर पूरा ध्यान दिया। हरनाज ने साल 2017 में मिस चंड़ीगढ़ का खिताब जीता था। इसके बाद उन्होंने मिस मैक्स इमर्जिंग स्टार इंडिया का खिताब अपने नाम किया।  वहीं 2021 में साउथ अफ्रीका और पराग्वे को पीछे छोड़ते हुए भारत की हरनाज संधू ने ब्रह्माण्ड सुंदरी का ताज अपने नाम कर लिया। संधू की ताजपोशी इस कार्यक्रम में मेक्सिको की पूर्व मिस यूनिवर्स 2020 एंड्रिया मेजा ने की। इस समारोह का हिस्सा बनने भारत से दिया मिर्जा भी पहुंचीं। उर्वशी रौतेला ने इस बार Miss Universe 2021 के कॉन्टेस्ट को जज किया। सभी टॉप तीन प्रतियोगियों से सवाल पूछा गया था कि आप दबाव का सामना कर रहीं महिलाओं को क्या सलाह देंगी? इसपर हरनाज संधू ने ऐसा जवाब दिया जिसे सुन आप लोग भी सोच में पड़ जायेगें।

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि Miss Universe 2021  में टॉप 3 राउंड के एक भाग के रूप में, सभी प्रतियोगियों से एक ही प्रश्न पूछा गया था, कि आज के दबावों से निपटने के लिए युवा महिलाओं को आप क्या सलाह देंगे? हरनाज़ ने कहा- ठीक है, मुझे लगता है कि आज का युवा जिस सबसे बड़े दबाव का सामना कर रहा है, वह है खुद पर विश्वास करना। यह जानने के लिए कि आप अद्वितीय हैं और यही आपको सुंदर बनाती है, अपनी तुलना दूसरों से करना बंद करें, और अधिक महत्वपूर्ण चीजों के बारे में बात करते हैं। दुनिया भर में हो रहा है। मुझे लगता है कि यही आपको समझने की जरूरत है। बाहर आओ, अपने लिए बोलो, क्योंकि तुम अपने जीवन के नेता हो। तुम अपने खुद के [जीवन] की आवाज हो। मुझे खुद पर विश्वास है और इसलिए मैं आज यहां खड़ी हूं। धन्यवाद। इस संबंध में आप लोगों की क्या प्रतिक्रियायें है। मित्रो अधिक रोचक बाते व लेटेस्‍ट न्‍यूज के लिये आप हमारे पेज से जुड़े और अपने दोस्तो को भी इस पेज से जुड़ने के लिये भी प्रेरित करें।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.